छत्तीसगढ़: स्वाइन फ्लू की दस्तक

Thursday, October 8, 2015

A A

स्वाइन फ्लू

रायपुर | संवाददाता: छत्तसीगढ़ की राजधानी रायपुर में स्वाइन फ्लू ने दस्तक दे दी है. दिल्ली से आये 22 मरीजों में से 4 में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो चुकी है. इन चार में से 1 की मौत रायपुर के एक निजी अस्पताल में 2 अक्टूबर को हो गई थी जिसकी रिपोर्ट 7 दिन बाद आई है.

मिली जानकारी के अनुसार राज्य के निजी तथा सरकारी अस्पतालों में स्वाइन फ्लू के 22 संदिग्ध मरीजों का ईलाज चल रहा है.

गुरुवार को स्वास्थ्य सचिन विकासशील ने इस सिलसिले में विभागीय अफसरों के साथ बैठक की. उन्होंने निर्देश दिया कि स्वाइन फ्लू की जांच के लिए निजी लैब को अनुबंधित कर, अधिकतम परीक्षण राशि तय की जाएये.

रायपुर मेडिकल कॉलेज को प्रतिदिन रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए केंद्र बनाया जाए. स्वास्थ्य विभाग की वेबसाइट पर स्वाइन फ्लू की जानकारी रोजाना अपडेट की जाए और मीडिया को प्रतिदिन जानकारी दें. हालांकि, स्वास्थ्य विभाग के वेबसाइट के अनुसार अक्टूबर माह में सरकारी अस्पतालों में स्वाइन फ्लू के मरीज नहीं मिले हैं.

स्वाइन फ्लू के लक्षण
स्वाइन फ्लू के लक्षण सामान्य एन्फ्लूएंजा के लक्षणों की तरह ही होते हैं. जिसमें बुखार, तेज ठंड लगना, गला खराब हो जाना, मांसपेशियों में दर्द होना, तेज सिरदर्द होना, खाँसी आना, कमजोरी महसूस करना आदि.

डरे नहीं सावधान रहें
सामान्य एन्फ्लूएंजा के दौरान रखी जाने वाली सभी सावधानियाँ इस वायरस के संक्रमण के दौरान भी रखी जानी चाहिये. बार-बार अपने हाथों को साबुन या ऐसे सॉल्यूशन से धोना जरूरी होता है जो वायरस का खात्मा कर देते हैं. नाक और मुँह को हमेशा मॉस्क पहन कर ढंकना जरूरी होता है. इसके अलावा जब जरूरत हो तभी आम जगहों पर जाना चाहिए ताकि संक्रमण ना फैल सके.

स्वाइन फ्लू का इलाज
संक्रमण के लक्षण प्रकट होने के दो दिन के अंदर ही एंटीवायरल ड्रग देना जरूरी होता है. इससे एक तो मरीज को राहत मिल जाती है तथा बीमारी की तीव्रता भी कम हो जाती है. अधिकांश मामलों में एंटीवायरल ड्रग तथा अस्पताल में भर्ती करने पर सफलतापूर्वक इलाज किया जा सकता है.

Tags: , , ,