छत्तीसगढ़ के रेल कॉरिडोर की समीक्षा

Wednesday, June 18, 2014

A A

रेलवे

रायपुर | संवाददाता: रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अरूणेन्द्र कुमार ने छत्तीसगढ़ के प्रस्तावित रेल कॉरिडोर की समीक्षा की. इसके लिये छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में महानदी भवन में बैठक का आयोजन किया गया. जिसमें छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव विवेक ढॉड तथा केन्द्रीय कोयला सचिव एसके श्रीवास्तव विशेष रूप से उपस्थित थे.

बैठक में छत्तीसगढ़ में रेल कॉरिडोर के निर्माण की प्रक्रिया में गति लाने के लिए समयबद्ध कार्यक्रम तैयार किया गया और पूर्व रेल कॉरिडोर खरसियां, धरमजयगढ़, कोरबा के तहत 10 से 74 किलोमीटर रेल लाईन निर्माण का कार्य आगामी एक अक्टूबर 2014 से प्रारंभ कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया.

केन्द्रीय कोयला सचिव एसके श्रीवास्तव ने रेल्वे के अधिकारियों से कहा कि वे पूर्व रेल कॉरिडोर के तहत शून्य से 10 किलोमीटर और 10 से 74 किलोमीटर की अलग-अलग परियोजना शीघ्र तैयार कराएं. उन्होंने कहा कि वन भूमि व्यपवर्तन हेतु आवेदन भी यथाषीघ्र करें, जिसे स्वीकृति हेतु 5 अगस्त 2014 तक भारत शासन को भिजवाया जाए ताकि सितम्बर के प्रथम सप्ताह तक वन भूमि व्यपवर्तन की अनुमति केन्द्र शासन से मिल सके.

उन्होंने कहा कि एक अक्टूबर से पहले द्वितीय चरण का क्लीयरेंस केन्द्र शासन से मिल जाएं इसके लिए रेल कॉरिडोर के निर्माण के संबंध में संबंधित विभाग के अधिकारी समय सीमा में अपने विभाग से संबंधित कार्यों को पूरा कराना सुनिष्चित करें,ताकि एक अक्टूबर से ईरकॉन द्वारा रेल लाइन निर्माण का कार्य कराया जा सके.

उन्होंने धरमजयगढ़ से कोरबा का डी.पी.आर रेल्वे से बनाने भी कहा है. दूसरा पूर्व-पश्चिम रेल कॉरिडोर गेवरारोड से पेण्ड्रारोड का सर्वे पूर्ण कर 31 दिसम्बर 2014 तक भू-अर्जन का काम पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. रेल बजट के पहले रेलवे बोर्ड के चेयरमैन के छत्तीसगढ़ प्रवास को अत्यंत महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

Tags: , , , , ,