ग्रीन-रे: सीबीआई ने छापा मारा

Tuesday, September 29, 2015

A A

सीबीआई-छापा

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के 20 हजार निवेशकों को 500 करोड़ का चूना लगाने वाली ग्रीन-रे कंपनी के ओडिशा के ठिकानों पर सोमवार को सीबीआई ने दबिश दी. सीबीआई ने ग्रीन-रे कंपनी के ठिकानों से कई दस्तावेज जब्त किये हैं. उल्लेखनीय है कि ओडिशा सरकार ने ग्रीन-रे कंपनी की जांच के लिये सीबीआई से कहा था. ग्रीन-रे कंपनी में अकेले ओडिशा में ही डेड़ लाख लोगों को चूना लगाया है.

ग्रीन-रे कंपनी ने छत्तीसगढ़ में साल 2013 में गोल्ड ट्रेडिग के नाम पर करीब 20 हजार लोगों से निवेश करवाया था. इस कंपनी का रायपुर के मोतीबाग में दफ्तर था जिसे पहले ही सील किया जा चुका है. छत्तीसगढ़ पुलिस ने इस कंपनी के संचालक आयूब शाह को रायपुर से गिरफ्तार कर लिया था.

तीन अन्य आरोपी मीर शहिरुद्दीन, मीर ताहिरूद्दीन और गोपाल चंद्र पात्रा अब तक फरार हैं. बताया जा रहा है कि तीनों आरोपी देश से बाहर चले गये हैं.

इस कंपनी का कारोबार ओडिशा, दिल्ली, उत्तराखंड तक फैला हुआ है. जाहिर है कि ग्रीन-रे कंपनी ने गोल्ड ट्रेडिंग के नाम पर इन राज्यों के निवेशकों को भी लूटा है.

आईजी जीपी सिंह ने बताया कि ओडिशा और दूसरे राज्यों में लिंक के बाद मामला राष्ट्रीय स्तर का हो गया है. राष्ट्रीय स्तर पर सीबीआई की जांच होने से इस मामले में कई बड़े खुलासे हो सकते हैं. ओडिशा की कार्रवाई में रायपुर पुलिस भी शामिल होगी. अगर वहां गिरफ्तारियां होती है, तो उन्हें पूछताछ के लिए रायपुर भी लाया जा सकता है.

Tags: , , , , ,