थोक महंगाई दर में बढ़ोतरी की दर घटी

Monday, February 16, 2015

A A

सब्जियां

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: देश की थोक महंगाई दर में जनवरी में बढ़ोतरी नकारात्मक रही है लेकिन इसका हरगिज भी अर्थ यह नहीं है कि महंगाई कम होने जा रही है. थोक महंगाई दर में नकारात्मक वृद्धि का मतलब है कि पिछले साल के समान अवधि में महंगाई जिस दर से बढ़ रही थी इस साल उस दर से कम में बढ़ रही है. उल्लेखनीय है कि देश की थोक महंगाई दर में जनवरी 2015 में 0.39 फीसदी की नकारात्मक वृद्धि रही. एक साल पहले समान अवधि में महंगाई दर 5.11 फीसदी थी. यह जानकारी सोमवार को जारी सरकारी आंकड़ों से मिली. थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित महंगाई दर दिसंबर 2014 में 0.11 फीसदी दर्ज की गई थी.

नवंबर 2014 में यह दर शून्य फीसदी थी.

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक ईंधन और बिजली मूल्यों में गिरावट के कारण थोक महंगाई दर नकारात्मक रही.

ईंधन और बिजली महंगाई दर में आलोच्य अवधि में 10.69 फीसदी की नकारात्मक वृद्धि रही, जबकि एक साल पहले की समान अवधि में इसमें 9.82 फीसदी की वृद्धि हुई थी.

खाद्य महंगाई दर आठ फीसदी रही, जबकि एक साल पहले समान अवधि में यह दर 8.85 फीसदी थी.

Tags: ,