Budget: क्या हुआ महंगा-सस्ता

Sunday, March 1, 2015

A A

धू्म्रपान स्मोकिंग

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: वित्त मंत्र जेटली ने लोकसभा में शनिवार को 2015-16 का आम बजट पेश किया. बजट में कुछ वस्तुएं सस्ती, तो कुछ महंगी हुई हैं. महंगी होने वाली वस्तुएं :

सेवा कर की दर को 14 फीसदी कर दिया गया है. साथ ही कर योग्य सेवाओं की सूची में कुछ और सेवाओं को शामिल किया गया है, जैसे म्यूचुअल फंड एजेंट द्वारा म्यूचुअल फंड या संपत्ति प्रबंधन कंपनी को दी जाने वाली सेवाएं, वितरक द्वारा म्यूचुअल फंड या संपत्ति प्रबंधन कंपनी को दी जाने वाली सेवाएं तथा लॉटरी टिकट की बिक्री या विपणन करने वाले एजेंटों द्वारा वितरकों को दी जाने वाली सेवाएं.

महंगी होने वाली वस्तुए

आयातित व्यावसायिक वाहन, शराब, बिजनेस व एक्जेक्यूटिव क्लास हवाई यात्रा, सोडा वाटर, आइस्ड टी,
नींबू पानी, मिनरल वाटर, पानी जिसमें एडेड शुगर या अन्य मीठे या स्वाद वाले रसायन मिलाए गए हों, कंटेनरों में गाढ़ा दूध, मूंगफली का मक्खन, बोरे और प्लास्टिक के थैले, तंबाकू और सिगरेट, सीमेंट.

सस्ती होने वाली वस्तुएं
मोबाइल फोन, एलईडी, एलसीडी टेलीविजन, कंप्यूटर, टैबलेट, माइक्रोवेब ओवन, रेफ्रिजरेटर कंप्रेसर, बिटुमिनस कोयला, यूलेक्जाइट अयस्क, तरल ब्यूटेन, इथिलीन डाई क्लोराइड, विनाइल क्लोराइड मोनोमर, स्टाइरीन मोनोमर, ब्यूटाइल एक्रीलाइट, एंथ्राक्यूनोन, पवन विद्युत जेनरेटर, सौर जल हीटर प्रणाली, स्मार्ट कार्ड्स एलईडी ड्राइवर्स तथा एलईडी लाइट्स, फिक्सर्स तथा बत्तियों के लिए इंटीग्रेटेड सर्किट के निर्माण के लिए इस्तेमाल में आने वाले वेफर्स, संग्रहालय, चिड़ियाघर तथा राष्ट्रीय पार्को की यात्रा, अगरबत्ती, पेसमेकर, एंबुलेंस, प्रति जोड़ी एक हजार रुपये से ऊपर के चमड़े के जूते.

Tags: , , , , , ,