डेंगू-मलेरिया रोकेगा बीटीआई बैक्टीरिया

Thursday, August 7, 2014

A A

संक्रमित मच्छर

कोलकाता | एजेंसी: मलेरिया और डेंगू जैसी बीमारियों के लिए जिम्मेदार मच्छरों की संख्या रोकने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार एक बैक्टीरिया का इस्तेमाल करेगी. राज्य स्वास्थ्य सेवा के निदेशक बी.आर.सत्पथी के मुताबिक, एक विशेष तरह के बैक्टीरिया बैसिलस थूरिंजेनेसिस इजरायलेंसिस, बीटीआई में मच्छरों के लार्वा को नियंत्रित करने की प्राकृतिक क्षमता है.

सत्पथी ने कहा, “यह मलेरिया या डेंगू के प्रकोप को रोकने की कार्य योजना का हिस्सा है. न्यू टाउन से इस नियंत्रण विधि की शुरुआत की जाएगी, क्योंकि तेजी से हुए शहरीकरण के कारण यहां पानी के निकास की समस्या विकट हुई है. कुछ दिनों में इसकी शुरुआत हो जाएगी.”

पर्यावरण के अनुकूल होने के कारण विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बीटीआई को मान्यता दी थी, क्योंकि यह आसपास मौजूद मानव, मछलियों और अन्य कीट-पतंगों को प्रभावित नहीं करता.

जब लार्वा बीटीआई को खाता है, तो यह बैक्टीरिया उसकी पाचन नली की कोशिकाओं को नष्ट कर देता है, परिणामस्वरूप लकवा के कारण लार्वा की मौत हो जाती है.

सत्पथी ने कहा कि मच्छर जनित बीमारियों को रोकने के लिए मच्छर भगाने वाले पौधों का इस्तेमाल भी कार्य योजना का हिस्सा है.

Tags: , , , , , , ,