बालीवुड के सदाबहार ‘गाइड’ देवआनंद

Friday, September 26, 2014

A A

देवानंद

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: क्या आपने कभी सुना है कि कभी किसी ‘ज्वेल थीप’ ने फिल्मी दुनिया को ‘गाइड’ किया है, यदि नहीं सुना है तो जान लीजिये कि वह शख्स देवआनंद थे. 26 सितंबर को इस देवआनंद का जन्मदिन है जिन्होंने फिल्मी दुनिया को जीनत अमान, टीना मुनीम, जैकी श्राफ जैसे कलाकार दिये. भारत के स्वतंत्रता प्राप्ति के पहले वर्ष 1943 में मात्र 30 रुपयों के साथ मुंबई जाने वाले देव आनंद ने जब 3 दिसंबर 2011 को लंदन में अंतिम सांस ली तब तक उन्होंने फिल्मी दुनिया को लगातार ‘गाइड’ किया. एक जमाना था जब युवक देव आनंद की अदाओं की नकल किया करते थे तथा युवतियां उनकी दीवानी थी.

अपने फिल्मी करियर के शुरुआत में देव साहब को सुरैया से प्रेम हो गया था परन्तु सुरैया के नानी की वजह से देव आनंद उनके ‘प्रेम पुजारी’ न बन सके. उन्होंने कल्पना कार्तिक के साथ विवाह किया था उसके ‘पेइंग गेस्ट’ बने रहें. हालांकि, सुरैया जीवन भर अविवाहित रह कर अपने देव आनंद को ‘कालापानी’ में याद करती रही.

देव साहब की खूबी थी कि वह समय की नब्ज को पहचान लेते थे. उन्होंने हिप्पियों पर भी फिल्म ‘हरे रामा हरे कृष्णा’ बनाई जिसका गाना उस दौर में खूब चर्चित हुआ था. यहां तक कि लड़कियों के लिये ‘हरे रामा हरे कृष्णा’ लिखे हुए पर्स भी खूब लोकप्रिय हुए थे. वास्तव में जीनत अमान को फिल्मी दुनिया में अपनी ‘टैक्सी’ में बैठा कर ही लाया था. फिल्मी दुनिया में टीना मुनीम के ‘स्वामी दादा’ देव आनंद ही थे.

देव आनंद को वास्तव में ‘बंबई का बाबू’ माना जाता है जिन्होंने ‘देस परदेस’ में ‘तीन देवियों’ के साथ ‘बारिश’ में जमकर ‘लव मैरिज’ किया. अपने दौर में देव आनंद के फिल्मों के गाने उनकी अदाओं के समान लोकप्रिय हुआ करते थे. आज देव साहब का जन्मदिन है इसलिये उनके द्वारा अभिनीत कुछ गानों को सुनकर उन्हें श्रध्दाजंलि दी जाये.

Tags: , , , , ,