फैक्ट्री में ब्लास्ट, 5 की मौत

Friday, August 1, 2014

A A

fire

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में एक फैक्ट्री में हुये विस्फोट में पांच मज़दूर मारे गये हैं. राजधानी रायपुर से लगे हुये अभनपुर के छोटे उरला में शुक्रवार को सुबह यह हादसा हुआ.

पुलिस सूत्रों के अनुसार छोटे उरला के नवभारत फ्यूज कंपनी में शुक्रवार को तड़के विस्फोट हुआ. आरंभिक तौर पर जो जानकारी आई है, उसके अनुसार एक कमरे में विस्फोटक रखा हुआ था और उसी में किसी कारण से आग लग गई.

पुलिस ने अभी तक इस घटना में पांच मजदूरों के मारे जाने की पुष्टि की है. हालांकि पुलिस ने मारे जाने वाले मज़दूरों की संख्या बढ़ने से इंकार नहीं किया है.

पुलिस विस्फोट होने के कारणों का पता लगा रही है. अभनपुर के एएसपी सी.डी. टंडन ने इस हादसे में पांच मजदूरों के मारे जाने की पुष्टि की है.

रायपुर के एडीएम संजय अग्रवाल ने बताया कि इस फैक्ट्री में डेटोनेटर फ्यूज बनाने का काम किया जाता है. शुक्रवार तड़के अचानक विस्फोट हुआ जिसमें पांच मजदूरों की मौत हो गई. सुपरवाइजर और एक अन्य मजदूर किसी काम से फैक्ट्री से बाहर थे, इसलिए उनकी जान बच गई.

पुलिस को प्रारंभिक जांच में पता चला है कि फैक्ट्री में कई तरह के विस्फोटक पदार्थ रखे हुए थे. इनमें से पीईटीएन नाम के रसायन में विस्फोट हुआ. घटनास्थल पर पुलिस और एफएसएल की टीम पहुंच गई है. शवों को मलबों से निकाल कर पंचनामा किया जा रहा है.

मृतकों के परिजन घटनास्थल पर पहुंच गए हैं. शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. एफएसएल की टीम के संतोष सिंह ने बताया कि पहले मलबे हटाने का काम किया जाएगा, उसके बाद आगे की पड़ताल की जाएगी.

घटनास्थल पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात है. हादसे के बाद अब तक फैक्ट्री प्रबंधन की तरफ से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है. मृतकों में माखन लाल निर्मलकर, गणेश हरवंश, लेखराम साहू, कोमल ठाकुर और पूनउराम यादव शामिल हैं. शासन ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये मुआवजे के रूप में देने की घोषणा की है.

अभनपुर के कांग्रेस विधायक धनेंद्र साहू भी मौके पर पहुंचे. उन्होंने कहा कि किसी की जिंदगी की कीमत सिर्फ दो लाख रुपये नहीं हो सकती. परिजनों को कम से कम 25 लाख रुपये मुआवजे के रूप में दिया जाना चाहिए. उन्होंने मृतकों के आश्रितों को नौकरी दिलाने की भी मांग की. इस घटना से ग्रामीणों में काफी आक्रोश है.

Tags: , , , , , , , , , , , , ,