समलैंगिकता पर सुप्रीम कोर्ट से सहमत भाजपा

Sunday, December 15, 2013

A A

समलैंगिकता

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: समलैंगिकता पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने सही ठहराया है. एक अखबार को दिए साक्षात्कार में राजनाथ सिंह ने कहा कि अप्राकृतिक संबंधों को सही नहीं ठहराया जा सकता इसीलिए यदि केंद्र सरकार इस मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक बुलाती है तो उनकी पार्टी भाजपा समलैंगिक रिश्तों को गलत ठहराने वाली धारा 377 का पक्ष लेगी.

इससे पहले भाजपा ने इस मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट नहीं किया था हालांकि पार्टी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज ने कहा था कि, “सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि अगर संसद चाहती है तो इसमें बदलाव कर सकती है. सरकार इस मुद्दे पर आमसहमति के लिए सर्वदलीय बैठक बुला सकती है, हम बैठक में सरकार का प्रस्ताव देखेंगे, फिर अपना रुख बताएंगे.”

वहीं अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत कांग्रेस पार्टी के कई नेता समलैंगिकता को अपराधकी श्रेणी में रखे जाने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पहले ही नाखुशी जता चुके हैं. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का भी कहना था कि ये निजी स्वतंत्रता के मसले हैं और वे दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले से ज्यादा सहमत हैं. उधर इस बारे में केंद्र सरकार का कहना है कि सरकार सुप्रीम कोर्ट के फैसले को निष्प्रभावी करने के लिए अभी कोई अध्यादेश नहीं जारी करेगी.

उल्लेखनीय है कि हाल ही में समलैंगिक संबंधों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में दिल्ली हाइकोर्ट के 2009 के उस फैसले को पलट दिया था, जिसमें समलैंगिक रिश्तों को अपराध के दायरे से बाहर कर दिया गया था, इसके बाद से ही देश में इस मुद्दे को लेकर बहस छिड़ गई है.

Tags: , , ,