‘बिग बॉस’ नये लोगों का मंच: फराह

Monday, January 5, 2015

A A

फराह खान- फिल्मकार

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: फिल्मकार फराह खान ने ‘बिग बॉस’ को नये आने वाला का मंच कहा है तथा स्पष्ट किया कि उन्हें ‘बिग बॉस’ के घर के अंदर जाने की जरूरत नहीं है. फराह खान ने कहा कि उन्हें रोजाना अपने घर लौटना पसंद है. फराह खान ने कहा कि जो लोग नजरों में आना चाहते हैं वे ‘बिग बॉस’ के घर के अंदर जाये. फिल्मकार-कोरियाग्राफर फराह अली खान टेलीविजन रियलिटी शो ‘बिग बॉस’ की अगली सीरीज ‘बिग बॉस हल्ला बोल’ की मेजबान हैं. उनका कहना है कि उनकी ‘बिग बॉस’ हाउस के अंदर जाने में कोई दिलचस्पी नहीं है. ‘हैप्पी न्यू ईयर’ फिल्म की निर्देशक फराह ने कहा, “मैं कभी ‘बिग बॉस’ के घर में नहीं जाऊंगी. मुझे नहीं लगता कि मुझे ऐसा करने की जरूरत है. मुझे रोजाना अपने घर जाना पसंद है. यह नए और जो नजरों में आना चाहते हैं, उनके लिए बेहतर है. यह उनके लिए सही मंच है. मुझे और ज्यादा नजरों में आने की कोई जरूरत नहीं है.”

फराह ने कहा, “यह सच में बहुत मुश्किल है. यह बहुत तन्हा एवं अलग-थलग कर देने वाला है और उसी वक्त आपके आसपास बहुत ज्यादा नकारात्मकता भी होती है. मैं उत्साहित हूं कि मैं बस इसकी मेजबानी कर रही हूं.”

सुपरस्टार सलमान खान ‘बिग बॉस’ के कई संस्करणों के मेजबान रह चुके हैं.

शो में सलमान की जगह लेने के बारे में पूछे जाने पर फराह ने कहा, “मैं ‘बिग बॉस’ की बहुत बड़ी प्रशंसक रही हूं..मैं सलमान की जगह सिर्फ इसलिए ले रही हूं, क्योंकि वह उपलब्ध नहीं हैं. बतौर मेजबान वह लाजवाब हैं.” जाहिर है कि कई सफल फिल्मों का निर्देशन करने वाली कोरियोग्राफर ‘बिग बॉस’ में भई अपनी मेजबानी की मिसाल कायम करने जा रही है.

‘बिग बॉस’
‘बिग बॉस’ एक वास्तविकता पर आधारित भारतीय टेलीविजन धारावाहिक है. यह ‘बिग ब्रदर’ का अनुसरण करता है जो नीदरलैंड में सबसे पहले एंडेमोल ने विकसित किया था. ‘बिग बॉस’ धारावाहिक में सितारें प्रतिभागी होते है जो एक साथ एक ही घर में लगभद तीन महीनों के लिए रहते है और इनका बाहरी दुनिया से कोई जोड़ नहीं होता है. इन्हें एक गूढ़ व्यक्ति देखता रहता है जिसे ‘बिग बॉस’ के नाम से जाना जाता है और इसकी मौजूदगी केवल इसकी आवाज़ से प्रतीत होती है.

Tags: , , , , ,