एटीएम इस्तेमाल करना हो सकता है महंगा

Saturday, December 7, 2013

A A

एटीएम

मुंबई | समाचार डेस्क: एटीएम सेंटरों में सुरक्षा बढ़ाने की मांग से संभावित वित्तीय बोझ को देखते हुए बैंक जल्द ही एटीएम व्यवहार के लिए ग्राहक से शुल्क वसूलना शुरु कर सकते हैं.

माना जा रहा है कि बैंक प्रति ट्रांसेक्शन ग्राहकों से 6 रुपए वसूल सकते हैं.

गौरतलब है कि हाल ही में कर्नाटक के बेंगलुरु में एक बिना गार्ड वाले एटीएम में दिनदहाड़े एक महिला के साथ हुई लूटपाट और जानलेवा हमले की वारदात को देखते हुए कई राज्य सरकारों ने बैंकों को एटीएम में सुरक्षा चाक चौबंद करने के निर्देश दिए हैं. कर्नाटक और तमिलनाडु ने तो एटीएम में चौबीसों घंटे सिक्यॉरिटी गार्ड्स मुहैया करने के लिए डेडलाइन तक फिक्स कर दी है.

इसके अलावा महाराष्ट्र समेत कई अन्य राज्यों ने बैंकों से एटीएम के बाहर और अंदर कैमरे लगाने को भी कहा है. इससे बढ़ने वाले खर्चों को देखते हुए बैंक अब अपनी कमाई बढ़ाने का विचार भी कर रहे हैं. बैंकों का कहना है कि 24 घंटे वाले सिक्यूरिटी गार्ड्स और ई सर्विलांस सिस्टम लागू करने से उन पर प्रति एटीएम 51 हजार रुपए प्रतिमाह का खर्च बढ़ेगा.

बैंक इसी खर्चे को प्रति लेनदेन 6 रूपए का शुल्क लेकर पूरा करने की योजना बना रहे हैं. आंकड़ों के अनुसार हर एटीएम में रोजाना लगभग 200 ट्रांसेक्शन होते हैं और इस शुल्क से यह भरपाई हो सकेगी. कस्टमर पर प्रस्तावित यह अतिरिक्त फीस किसी दूसरे बैंक के एटीएम से कैश निकालने पर पहले से लग रही 20 रुपए की फीस से इतर होगी। गौरतलब है कि अभी पैसे निकालने या बैलेंस इन्क्वॉयरी के लिए महीने में पांच बार से ज्यादा किसी अन्य बैंक के एटीएम का इस्तेमाल पर फिलहाल चार्ज देना पड़ता है

Tags: , , ,