बांधी पर आरोप लगाने वाली की हत्या

Saturday, November 9, 2013

A A

कृष्णमूर्ति बांधी

बिलासपुर | संवाददाता: मस्तूरी से भाजपा प्रत्याशी डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी पर दैहिक शोषण का आरोप लगाने वाली महिला की हत्या कर दी गई. महिला की हत्या के आरोप में बांधी के निज सचिव रिटायर्ड जज आर.आर भारद्वाज और उनके पुत्र देव भारद्वाज को गिरफ्तार किया है. चुनाव से ऐन पहले हुए इस सनसनीखेज मामले से विपक्षियों को बांधी के खिलाफ बैठे-बिठाए मुद्दा मिल गया है.

उल्लेखीय है कि मध्यप्रदेश के छतरपुर की निवाली शेरोलीन मसीह ने मस्तूरी से विधायक डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी और उनके निजी सचिव भारद्वाज पर बुधवार को दैहिक शोषण का आरोप लगाया था. महिला का कहना था कि बिलासपुर निवासी रिटायर्ड जज आऱआर भारद्वाज ने शादी का विज्ञापन छपाया था जिससे उसकी पहचान भारद्वाज से हुई और फिर उन दोनों की शादी हो गई

महिला का कहना था कि शादी के बाद भारद्वाज ने उसे तीन साल तक छत्तीसगढ़ के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. बांधी के रायपुर स्थित सरकारी बंगले में तीन साल तक रखा. उसने आरोप लगाया था कि इसी अवधि के दौरान 15-16 जनवरी 2012 की दरमियानी रात को डॉ. बांधी ने उसके साथ बलात्कार किया. डॉ. बांधई ने बुधवार को महिला के आरोपों का खंडन करने हुए इसे राजनीति से प्रेरित बताया था.

इसके बाद के घटनाक्रम में गुरुवार देर शाम महिला ने बांधी के निज सचिव रिटायर्ड जज भारद्वाज के बिलासपुर के कतियापारा स्थित घर जाकर मुलाकात की जहां से वह रात 2.30 बजे के करीब जलती हुई हालत में जान बचाने के लिए इधर-उधर भागती हुई निकली. उसने मदद के लिए भारद्वाज के सामने वाले घर का दरवाजा खटखटाया और फिर वहीं गिर पड़ी. मोहल्लेवासियों के द्वारा एंबुलेंस बुलाने के बाद महिला को सिम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया.

शुक्रवार दोपहर को 86 फीसदी जल चुकी शेरोलीना मसीह का निधन सिम्स अस्पताल में हो गया. इस अवधि के दौरान पुलिस ने उसका बयान डॉक्टर न होने की बात कह कर दर्ज नहीं कराया. अब कांग्रेस ने डॉ. बांधी पर इस मामले में लिप्त होने की बात कह कर निशाना साधा है और उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है.