प्री पोल सर्वे के खिलाफ अटार्नी जनरल

Monday, November 4, 2013

A A

निर्वाचन आयोग

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: भारत के अटार्नी जनरल जी. वाहनती भी चाहते हैं कि चुनाव पूर्व सर्वेक्षणो पर रोक लगा दी जाये. इससे पहले कांग्रेस ने मांग की थी कि चुनाव पूर्व होने वाले सर्वेक्षणों पर रोक लगा दी जाये.

गौर तलब है कि चुनाव आयोग आयोग ने अक्टूबर माह के शुरु में राजनीतिक दलों से जानना चाहा था कि क्या चुनाव पूर्व ओपीनियन पोल पर बंदिश लगा दी जाये. कांग्रेस ने 30 अक्टूबर को अपनी राय से निर्वाचन आयोग को अवगत कराया था.

कांग्रेस के मानवाधिकार एवं कानून विभाग के सचिव के.सी. मित्तल ने कहा, “हम चुनाव आयोग के चुनाव के दौरान मतदान सवेक्षणों पर रोक लगाने के विचार का समर्थन करते हैं, क्योंकि यह वैज्ञानिक नहीं होता है. इस तरह के सर्वेक्षण सटीक और पारदर्शी नहीं होते हैं.”

ज्ञात्वय रहे कि इससे पहले कांग्रेस ने तुनाव आयोग से शिकायत की थी कि आईबीएन द्वारा जारी सर्वे की रिपोर्ट वास्तव में पेड न्यूज है. चुनाव आयोग के अनुसार पेड न्यूज वर्जित है.

गौरतलब है कि आईबीएन7 और द वीक के लिए सीएसडीएस ने छत्तीसगढ़ में 13 से 20 अक्टूबर के बीच किए गए सर्वे में 25 विधानसभा सीटों की 99 पोलिंग स्टेशनों के 1891 वोटरों से बातचीत करने का दावा किया है.

इस सर्वे के मुताबिक भाजपा को छत्तीसगढ़ की 90 सीटों में से 61 से 71 सीटें मिल सकती हैं. जबकि कांग्रेस के हाथ महज 16 से 24 सीटें लगने की बात कही गई है. बसपा शून्य से 2 सीटें हासिल कर सकती है. जबकि अन्य 1 से 5 सीटें जीत सकते हैं.

Tags: , , ,