मोदी के बदनसीब बयान

Tuesday, February 10, 2015

A A

नरेंद्र मोदी-प्रधानमंत्री

नई दिल्ली | संवाददाता: नरेंद्र मोदी जिसे धोखेबाज बताते रहे, अब वो मुख्यमंत्री बनने वाला है. दिल्ली विधानसभा चुनाव में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषणों में अरविंद केजरीवाल पर व्यक्तिगत निशाना साधा और उन्हें नक्सली बताया, नौटंकीबाज बताया, धोखेबाज बताया, अराजक बताया लेकिन ये सारे जुमले जनता ने नकार दिये और अरविंद केजरीवाल को मुख्यमंत्री बना दिया. ऐसे बोल बोलने वाले नरेंद्र मोदी की भाजपा दो अंकों में भी नहीं पहुंच पाई.

विश्लेषकों का कहना है कि नरेंद्र मोदी के इन बयानों ने भी भाजपा के खिलाफ माहौल बनाया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बयानों में कहा- जिन लोगों को सिर्फ टीवी पर आने का शौक है, वो सरकार नहीं चला सकते. दिल्ली में ऐसी सरकार चाहिए, जो मोदी से डरे, भारत सरकार से डरे, जिसको केंद्र की परवाह नहीं, वह क्या सरकार चलाएगा? नरेंद्र मोदी ने कहा-मेरी सरकार बनते ही, देश में पेट्रोल-डीजल के दाम गिर गए. लोग कहते हैं यह तो मोदी का नसीब है, इसमें बुरा क्या है?

मोदी के बयान यहीं नहीं रुके-पिछले वर्ष आपने जिसे वोट दिया, उसने आपकी पीठ में छूरा घोंपा और आपके सपने चूर-चूर हो गए. दिल्ली धोखेबाज़ों को वोट नहीं देगी.

नरेंद्र मोदी बोलते वक्त सारी मर्यादायें लांघते चले गये-हिंदुस्तान में लोगों को गुमराह करने के लिए कैसी कैसी कांस्पाइरेसी की जाती है. पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान सीना तान कर कुछ बाजारू लोग सर्वे घोषित करते थे और 50 सीट दे दी थी, अख़बार निकाल कर देखो और आपको सबूत मिल जाएगा. जब परिणाम आए तो वे सबसे बड़े दल के तौर पर भी नहीं आ पाए थे.

इन जुमलेबाजी से भरे बयानों ने अरविंद केजरीवाल की विनम्र छवि को और धार दी और अब जबकि दिल्ली विधानसभा चुनाव के परिणाम सामने आ गये हैं तो भारतीय जनता पार्टी विपक्ष में बैठने लायक भी नहीं बची.

Tags: , , , , , , , , ,