छत्तीसगढ़ में जीव-जंतु कल्याण बोर्ड

Tuesday, January 20, 2015

A A

भैंस

रायपुर | एजेंसी: सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के परिप्रेक्ष्य में छत्तीसगढ़ में जीव-जंतु कल्याण बोर्ड गठित करने का निर्णय लिया गया है. पशुओं के कल्याण से संबंधित कार्यो को बढ़ावा देने तथा इसके लिए राज्य शासन को परामर्श देने का काम बोर्ड द्वारा किया जाएगा. बोर्ड के संचालन के लिए कार्यकारिणी समिति भी बनेगी. बोर्ड चालू वित्तवर्ष में ही अपना कार्य शुरू कर देगा. कृषि एवं पशुधन विकास मंत्री बृजमोहन अग्रवाल कार्यकारिणी समिति के अध्यक्ष तथा कृषि उत्पादन आयुक्त इस समिति के उपाध्यक्ष होंगे.

पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों ने यहां सोमवार को बताया कि पशुधन के प्रति क्रूरता निवारण के लिए वर्तमान विधियों का निरंतर अध्ययन करते रहना तथा समय-समय पर इन विधियों में जरूरत के अनुरूप संशोधन करने के लिए राज्य शासन को परामर्श देने का कार्य भी बोर्ड द्वारा किया जाएगा.

समिति में संचालक पशु-चिकित्सा सेवाएं, रजिस्टार छत्तीसगढ़ राज्य गो-सेवा आयोग, रजिस्टार छत्तीसगढ़ राज्य पशु चिकित्सा परिषद तथा कार्यालय प्रमुख अथवा रजिस्टार छत्तीसगढ़ जीव-जंतु कल्याण बोर्ड इस समिति में शामिल रहेंगे. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के अनुमोदन के बाद वित्त विभाग द्वारा बोर्ड के लिए दस पदों की संरचना को मंजूरी दे दी गई है.

आर्थिक सहायता के अनुदान द्वारा अथवा पिंजरा पोल गौशाला पशु संरक्षण गृह, पशु शरणालय, पशु-पक्षी उद्यान आदि बनाए जाने के लिए प्रोत्साहन देने का कार्य भी बोर्ड की जिम्मेदारी में शामिल होगी.

राज्य शासन ने पशु चिकित्सा विभाग के अंतर्गत गठित जीव-जंतु कल्याण बोर्ड के लिए विभिन्न संवर्गों के दस पदों की स्वीकृति भी दे दी गई है.

Tags: , , ,