‘साइक्लोन फेलीन’ से निपटने की तैयारी

Thursday, October 10, 2013

A A

चक्रवात

हैदराबाद | एजेंसी: तेलंगाना मुद्दे पर बिजली संकट से जूझ रहे आंध्र प्रदेश ने अब संभावित चक्रवाती तूफान फेलीन से निपटने के लिये तैयारी कर ली है. अधिकारियों ने गुरुवार को कहा कि चक्रवाती तूफान के उत्तरी आंध्र प्रदेश के कलिंगपटनम एवं ओडिशा के पारादीप तट तक शनिवार रात तक पहुंचने का अनुमान है.

राज्य के सभी नौ तटीय जिलों में चेतावनी जारी कर दी गई है. अधिकारी इस बात के लिए प्रयासरत है कि तूफान में कम से कम नुकसान हो. जिलों में विशेष अधिकारियों को स्थानीय अधिकारियों की मदद के लिए नियुक्त किया गया है. निचले इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने की तैयारियां की जा रही हैं. राष्ट्रीय आपदा कार्रवाई बल से संपर्क बनाकर रखा गया है.

राज्य के राजस्व, राहत एवं पुनर्वास मंत्री एन. रघुवीरा रेड्डी ने कहा कि जिलाधिकायों को थल सेना, नौसेना और वायुसेना को सतर्क कर देने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि जरूरत के समय त्वरित कार्रवाई की जा सके.

भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा गुरुवार सुबह जारी सूचना के मुताबिक बंगाल की खाड़ी के मध्यपूर्व में उत्पन्न चक्रवाती तूफान धीरे-धीरे पश्चिमोत्तर की तरफ बढ़ रहा है. ओडिशा के पारादीप से इसकी दूरी 850 किलोमीटर, कलिंगपटनम से 900 किलोमीटर एवं विशाखापटनम से 950 किलोमीटर है.

विशाखापटनम साइक्लोन वार्निग सेंटर ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि चक्रवाती तूफान की वजह से क्षेत्र में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है. मछुआरों को समुद्र में न उतरने की चेतावनी दी गई है.

गौर तलब है कि राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारी एम. ससिधर रेड्डी के अनुसार चूंकि यह तीव्र चक्रवाती तूफान है, इसलिए पूरा तटीय क्षेत्र इससे प्रभावित होगा.

ज्ञात्वय रहे कि पांच दिनों से चल रहे बिजली कर्मियों की हड़ताल से आंध्रवासी पहले से ही परेशान हैं अब उन्हें तूफान का सामना करना पड़ेगा.

Tags: ,