Big B को यश चोपड़ा मेमोरियल अवार्ड

Friday, December 26, 2014

A A

अमिताभ बच्चन

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: जिस यश चोपड़ा तथा अमिताभ बच्चन ने 1975 में फिल्म ‘दीवार’ से प्रसिद्धि पाई थी उसी यश चोपड़ा की याद में अमिताभ को पुरस्कार दिया गया. बालीवुड में अमिताभ बच्चन ने यश चोपड़ा निर्देशित ‘दीवार’ फिल्म से अपने पांव जमाये थे. वहीं, ‘दीवार’ फिल्म के बाद यश चोपड़ा के घऱ का चक्कर अभिनेता लगाने लगे. कहने का तात्पर्य यह कि यश चोपड़ा तथा अमिताभ की जुगलबंदी ने ही दोनों को बालीवुड के शिखर पर पहुंचा दिया. यश चोपड़ा ने अमिताभ को लेकर फिल्म ‘सिलसिला’ तथा ‘कभी-कभी’ बनाई जिसके चर्चे आज भी यदाकदा होते रहते हैं. यश चोपड़ा ने अमिताभ के अलावा भी कई हिट फिल्मे दी है जिनके नाम हैं ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’, ‘दिल तो पागल है’.

फिल्म निर्माता यश चोपड़ा को भारतीय सिनेमा में उनके योगदान के लिए फ्रांस का सर्वोच्च ‘ऑफिसियर डी ला लेजन’ पुरस्कार प्रदान किया गया. स्विस सरकार ने उन्हें “स्विस एंबेसडरर्स अवार्ड 2010” से सम्मानित किया. महानायक अमिताभ बच्चन को मुंबई नगरी में यश चोपड़ा मेमोरियल अवार्ड से सम्मानित किया गया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि वह अब भी सिनेजगत को अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास कर रहे हैं. अमिताभ को यह सम्मान गुरुवार को आयोजित एक पुरस्कार समारोह में महाराष्ट्र के राज्यपाल सी. विद्यासागर राव के हाथों मिला. पिछले साल यह पुरस्कार सुर सम्राज्ञी लता मंगेशकर को दिया गया था. यश चोपड़ा को बालीवुड में ‘किंग ऑफ रोमांस’ तथा अमिताभ को ‘एंग्री यंगमैन’ के नाम से जाना जाता था.

72 वर्षीय अमिताभ ने पुरस्कार समारोह के बाद कहा, “मैं इस सम्मान को पाकर बहुत आभारी महसूस कर रहा हूं. मैं मुझे इस सम्मान के काबिल समझने वाले राजनेता टी. सुब्बारामी रेड्डी और निर्णायकमंडल के बाकी सभी सदस्यों को भी धन्यवाद देना चाहूंगा.”

अमिताभ ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि मैं इतनी ज्यादा सराहना पाने का हकदार हूं, लेकिन मैं अब भी आप लोगों के प्रेम व सहयोग से अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास कर रहा हूं और आने वाले वर्षो में भी इसे जारी रखूंगा.” अमिताभ बच्चन को अपने प्रिय निर्देशक यश चोपड़ा की याद में पुरस्कार मिलना एक संयोग नहीं तो और क्या है?

Tags: , , , , , ,