अमरीका ने मोदी को न्यौता दिया

Wednesday, May 21, 2014

A A

भारत और अमरीका

वॉशिंगटन | एजेंसी: अमेरिका ने नरेंद्र मोदी पर लगाए गए एक दशक के प्रतिबंध के बाद उन्हें वाशिंगटन दौरे का न्योता दिया है और उनके प्रधानमंत्री पद के रूप में शपथ लेने से चार दिन पहले अपने राजदूत को स्वदेश वापस बुला लिया है.

सामान्यत: एक राजदूत की स्वदेश वापसी खबर नहीं होती, लेकिन विश्लेषकों ने नैंसी पावेल के मार्च में सेवानिवृत्ति की घोषणा को उनकी कूटनीतिक असफलता करार दिया है.

पावेल पर खोब्रागड़े मामले को ठीक से न सुलझा पाने और भारत के राजनीतिक हालात देखने के बावजूद मोदी तक देर से पहुंचने का दोषी पाया गया है, वह भी ऐसे समय में जब अमेरिका के यूरोपीय साझीदार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तरफ संबंध बढ़ाने का संकेत दे रहे हैं.

विदेश मंत्री जॉन केरी की तरफ से मंगलवार को एक फिर मोदी को बधाई देते हुए उन्हें अमेरिका आने का निमंत्रण दिया गया.

केरी ने कहा कि अमेरिका साझा उन्नति को बढ़ाने और हमारी सुरक्षा को मजबूत करने के लिए मोदी और नई सरकार के साथ काम करने के लिए तैयार है.

विदेश मंत्री ने भारत-अमेरिका संबंध को महत्वपूर्ण करार देते हुए कहा कि वह जल्द ही भारत जाने और नए प्रधानमंत्री को अमेरिका आमंत्रित करने के राष्ट्रपति बराक ओबामा के संदेश को उन तक पहुंचाने का इंतजार कर रहे हैं.