अक्षरा को मम्मी-डैडी की विरासत, अभिनय

Saturday, January 31, 2015

A A

अक्षरा हासन

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: अक्षरा हासन का कहना है कि उसकी उसके माता-पिता से तुलना करना अभी ठीक नहीं है. अक्षरा हासन को अभिनय विरासत में मिली है उसके बाद भी उसे अपने मम्मी-डैडी से तुलना करना पसंद नहीं है. अक्षरा के पिता कमल हासन दक्षिण में ही नहीं बालीवुड में उतने ही लोकप्रिय रहें हैं वहीं, उनकी मां सारिका ने कई हिन्दी फिल्मों में यादगार अभिनय किया है. हाल ही में अक्षरा ने अमिताभ तथा धनुष के साथ फिल्म ‘शमिताभ’ में किरदार किया है. उसके बाद से ही अक्षरा की तुलना उनके मम्मी-डैडी से की जाने लगी है. अक्षरा को अभिनय विरासत में मिलने का अर्थ है कि उन्हें कमल हासन की लड़की होने के कारण ही आर बाल्की ने अपनी फिल्म में लिया है. ‘शमिताभ’ फिल्म से बॉलीवुड में कदम रख रही अभिनेत्री अक्षरा हासन को अपनी तुलना सेलिब्रिटी मम्मी-डैडी कमल हासन व सारिका से किया जाना सही नहीं लगता. अक्षरा ने कहा, “मेरे माता-पिता से मेरी तुलना करना गलत है, क्योंकि उन्हें बहुत ज्यादा अनुभव है, इसलिए हम तुलना नहीं कर सकते.”

वहीं, ‘शमिताभ’ में अक्षरा के साथ काम कर चुके अभिनेता धनुष का कहना है कि आने वाली फिल्म ‘शमिताभ’ में नवोदित अभिनेत्री अक्षरा हासन की भूमिका सबसे चुनौतीपूर्ण थी, लेकिन उन्होंने बड़े ही आत्मविश्वास से उसे निभाया, क्योंकि अभिनय उनके खून में है. धनुष ने कहा, “सभी भूमिकाओं में से फिल्म में अक्षरा की भूमिका सबसे ज्यादा चुनौतीपूर्ण थी. लेकिन मुझे नहीं लगता कि उसे भूमिका निभाने में ज्यादा परेशानी हुई, क्योंकि अभिनय उनके खून में शामिल है.” जाहिर है कि धनुष का दिया बयान अक्षरा के बातों से मेल नहीं खाता है. दर्शक भी अक्षरा हासन के चेहरे में सारिका की झलक देखते हैं तथा उससे कमल हासन के समान अभिनय की उम्मीद करते हैं.

अक्षरा ने आर. बालाकृष्णन उर्फ आर. बाल्की निर्देशित ‘शमिताभ’ में अमिताभ बच्चन व धनुष के साथ काम किया है. उन्होंने कहा, “मेरे माता-पिता ने बहुत काम किया है और उस मुकाम तक पहुंचना संभव नहीं है. मुझे नहीं लगता कि मैं उस मुकाम तक पहुंच सकती हूं, जो मेरे माता-पिता को मिला है. मैं कहां तक पहुंच सकती है, इस पर ध्यान दूंगी.”

Tags: , , ,