जोगी ने फिर फेंका फंदा

Sunday, September 15, 2013

A A

अजीत जोगी

रायपुर | एजेंसी: अजीत जोगी ने कांग्रेस आलाकमान के सामने छत्तीसगढ़ में आगामी विधानसभा के साथ ही लोकसभा चुनाव में जीत के लिए नया फामूर्ला दिया है. जोगी ने छत्तीसगढ़ के दिग्गज कांग्रेसी नेताओं को विधानसभा के बजाय लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार बनाने की सलाह दी है. उनके इस नए फार्मूले से विधानसभा चुनाव लड़ने की लालसा पाले नेताओं की नींद उड़ गई है.

जोगी ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रविंद्र चौबे को भी लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार बनाने पर जोर दिया है. इसी तरह पीसीसी के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष सत्यनारायण शर्मा को रायपुर लोकसभा सीट से और स्वयं अजीत जोगी ने बिलासपुर या महासमुंद से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है.

जोगी ने कोरबा के सांसद व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत को लोकसभा चुनाव लड़ने के बजाय विधानसभा चुनाव में उतारने की बात कही है, जिसको लेकर कांग्रेस में खलबली मची हुई है. उन्होंने लोकसभा की सीटों पर बड़े नेताओं को टिकट देने की सलाह दी है.

जोगी का कहना है कि बड़े नेता अगर विधानसभा चुनाव लड़ते हैं तो उनका सारा ध्यान केवल एक सीट पर रह जाता है जबकि वे स्वयं चुनाव न लड़ें तो कई प्रत्याशियों को चुनाव जिता सकते हैं, दूसरी ओर बड़े नेताओं के लोकसभा चुनाव लड़ने से सीट जीतने में आसानी भी होगी.

अगर जोगी के फामूर्ले पर विचार होता है और बड़े नेताओं को लोकसभा चुनाव में उतारने पर सहमति बनती है तो लोकसभा चुनाव में दावेदारों की संभावित सूची कुछ इस तरह हो सकती है- राजनांदगांव से देवव्रत सिंह, दुर्ग से प्रदीप या रविंद्र चौबे, रायपुर से सत्यनारायण शर्मा व किरणमयी नायक, महासमुंद से प्रतिभा पांडे या अजीत जोगी, बिलासपुर से रेणु जोगी या अजीत जोगी.

इसके अलावा कोरबा से डॉ. चरणदास महंत, कांकेर से प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष अंबिका मरकाम या शिव नेताम, रायगढ़ से शक्राजीत नायक या हृदयराम राठिया, बस्तर से शंकर सोढ़ी या महेंद्र कर्मा परिवार के सदस्य, जांजगीर चांपा से परसराम भारद्वाज या शिव डहरिया व सरगुजा से टी.एस. सिंहदेव प्रत्याशी हो सकते हैं.

गौरतलब है कि एक ओर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जहां अपने सांसदों को विधानसभा चुनाव में उतारने की तैयारी में है, वहीं कांग्रेस विधायक प्रत्याशियों के टिकट काटकर उन्हें लोकसभा चुनाव लड़ाने पर विचार कर रही है. जोगी ने कांग्रेस आलाकमान को विश्वास दिलाया है कि ऐसा करने से न केवल विधानसभा चुनाव में लाभ मिलेगा बल्कि लोकसभा में भी अधिक से अधिक सांसद कांग्रेस से चुनकर आएंगे.

उल्लेखनीय है कि अभी छत्तीसगढ़ से कांग्रेस के एकमात्र सांसद डॉ. चरणदास महंत केंद्र में मंत्री व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद का दायित्व निभा रहे हैं. जोगी के इस फार्मूले ने इन दिनों विधानसभा चुनाव लड़ने की मंशा रखने वाले दिग्गज नेताओं को पसोपेश में डाल दिया है.

वैसे भी यदि राहुल फार्मूले के मुताबिक टिकट बंटते हैं तो कई कांग्रेस नेताओं को करारा झटका लग सकता है. फिलहाल जोगी पार्टी हाईकमान से तवज्जो मिलने के इंतजार में दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं.

Tags: , , , ,