वायुसेना का विमान अब तक लापता

Saturday, July 23, 2016

A A

भारतीय वायु सेना

चेन्नई | समाचार डेस्क: भारतीय वायुसेना का लापता विमान AN-32 अब तक नहीं मिला है. शुक्रवार सुबह से लापता इस विमान की तलाश अब तक जारी है. इस विमान में 29 लोग सवार थे. आईएएफ अधिकारी का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में अभी तक विमान के मलबे के कोई निशान नहीं मिले हैं.

आईएएफ के जनसंपर्क अधिकारी विंग कमांडर अनुपम बनर्जी ने शनिवार को कहा, “तलाश जारी है. इस संदर्भ में कोई भी सूचना आती है तो उसके बारे में बताया जाएगा.”

एक तटरक्षक अधिकारी ने कहा कि तलाशी दल को बंगाल की खाड़ी में किसी भी विमान का मलबा नहीं मिला है.

अधिकारी ने बताया कि रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर आज चेन्नई का दौरा कर सकते हैं.

भारतीय रक्षा बल के एक अनुभवी पायलट ने शुक्रवार को कहा कि ‘नो टॉक/रेडियो जोन’ या ‘डेड जोन’ में सिर्फ ‘विनाशकारी परिस्थिति’ से ही कोई विमान अचानक नष्ट हो सकता है.

विमान में चालक दल के छह सदस्य, वायुसेना, सेना, नौसेना और तटरक्षक बल के 15 जवान और जवानों के परिवार के आठ अन्य सदस्य सवार थे.

अधिकारियों ने बताया कि 33 स्क्वाड्रन के एएन-32 विमान ने चेन्नई के तंबारम वायुसेना स्टेशन से सुबह 8.30 बजे उड़ान भरी थी और इसे पूर्वाह्न 11.30 बजे अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह के पोर्ट ब्लेयर पहुंचना था.

वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल अरुप राहा की ओर से रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को दी गई सूचना में कहा गया है कि चेन्नई हवाई यातायात रडार से प्राप्त प्रतिलिपि के मुताबिक विमान को आखिरी बार पूर्वी चेन्नई से 151 समुद्री मील दूर देखा गया था.

लापता विमान के लिए सघन तलाशी व बचाव अभियान शुरू किया गया है, जिसमें विमान, हेलीकॉप्टर, जहाज और पनडुब्बियों को भी लगाया गया है.

सूत्रों के मुताबिक, विमान से आखिरी संपर्क उड़ान भरने के लगभग 15 से 20 मिनट बाद किया गया.

वायुसेना के मुताबिक, एएन-32 रूस द्वारा निर्मित एक दोहरा इंजन विमान है. इसकी लगभग 6.7 टन भार वहन या 39 पैराट्रपर्स को ले जाने की क्षमता है.

विमान की अधिकतम गति 530 किलोमीटर प्रतिघंटा है.

Tags: , ,