आपातकाल के बाद ‘वन मैन शो’?

Saturday, June 20, 2015

A A

लालकृष्ण आडवाणी

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: लालकृष्ण आडवाणी ने आपातकाल के बाद भारतीय राजनीति में ‘वन मैन शो’ पर निशाना साधा है. भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने शुक्रवार को कहा वे राजनीति में ‘वन मैन शो’ के खिलाफ हैं तथा नेताओं को अटल बिहारी बाजपेयी जैसा विनम्र होना चाहिये. उन्होंने कहा कि अहंकार से तानाशाही का जन्म होता है इसलिये नेताओं को बाजपेयी के समान विनम्र होना चाहिये.

उन्होंने कहा, वाजपेयी सफल रिकॉर्ड के साथ एक कद्दावर नेता थे लेकिन उस वक्त किसी से नहीं सुना कि वाजपेयी इंडिया हैं और इंडिया वाजपेयी है. इंडिया टुडे को दिए एक अन्य साक्षात्कार में आडवाणी ने यह भी कहा, जो कोई भी सत्ता में आता है, वह उसे खोना नहीं चाहता. और उन्होंने आगाह किया कि जो भी सत्ता का दुरुपयोग करेगा, उसे मतदाता सबक सिखाएंगे.

आपातकाल पर अपनी विवादस्पद टिप्पणी पर आडवाणी ने स्पष्ट किया कि उनका मतलब किसी व्यक्ति विशेष से नहीं था. उन्होंने कहा, जो भी सत्ता में आता है, वह उसे खोना नहीं चाहता. जिस तरह किसी को धन मिलता है तो वह उसे खोना नहीं चाहता. उल्लेखनीय है कि भाजपा में लंबे समय तक नंबर दो पर रहने वाले लालकृष्ण आडवाणी अब सत्ता तथा संगठन में काफी नीचे आ गये हैं.

यहां तक कि 2014 के लोकसभा चुनाव में लालकृष्ण आडवाणी को अपने सीट के लिये भी जद्दोजहद करनी पड़ी थी. 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी के नेतृत्व में भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता पर आई. उसी के बाद से आडवाणी नेपथ्य में चले गये.

दो दिनों पहले आडवाणी ने आपातकाल पर अपनी टिप्पणी से राजनीति में सनसनी फैला दी थी. उसके बाद विपक्ष ने प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर निशाना साधा.

Tags: , , ,