200 से अधिक मरे : सिंधिया

Monday, October 14, 2013

A A

ज्योतिरादित्य सिंधिया

दतिया | एजेंसी: केंद्रीय उर्जा राज्यमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सोमवार को कहा कि दतिया के रतनगढ़ देवी मंदिर के करीब मची भगदड़ में मरने वालों की संख्या 200 से ज्यादा है. अभी प्रशासन ने सिर्फ 111 लोगों की मौत का आंकड़ा दिया है.

देवी मंदिर के करीब सिंध नदी के पुल पर हुए हादसे के दूसरे दिन सोमवार को रतनगढ़ पहुंचे सिंधिया ने हादसे के लिए प्रशासनिक लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि पुल पर महज कुछ ही पुलिस वालों की तैनाती थी, वहीं पूर्व में बनाए गए नियम के बावजूद ट्रैक्टर को पुल के करीब तक आने दिया गया.

उन्होंने कहा कि यह हादसा दिल द्रवित कर देने वाला है. महिलाओं ने तो अपनी साड़ी पुल पर बांध कर जान बचाई है. इतना ही नहीं मुझे जो जानकारी मिली है उसके आधार पर मरने वालों की संख्या 200 से ज्यादा है.

कांग्रेस महासचिव अजय माकन ने कहा, “मध्य प्रदेश सरकार को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए. मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए.”

माकन ने आरोप लगाया कि सरकार ने दतिया के रतनगढ़ दुर्गा मंदिर में भीड़ को नियंत्रित करने को लेकर कोई तैयारी नहीं की थी.

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री कमलनाथ ने भी रविवार को मंदिर में हुई त्रासदी के लिए मध्य प्रदेश सरकार पर वार किया.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “मध्य प्रदेश सरकार विफल रही है. मौतों के लिए पूरी तरह वही जिम्मेदार है.”

उन्होंने कहा कि किसी भी नेता को वहां जाने और लोगों से बात करने की अनुमति नहीं दी जा रही है, क्योंकि काफी कुछ छुपाने को है.

उल्लेखनीय है कि दतिया जिले के रतनगढ़ स्थित देवी मंदिर में दर्शन करने जा रहे श्रद्धालुओं की भीड़ में सिंध नदी के पुल पर भगदड़ मच गई थी.

Tags: , ,